Sunday, June 2, 2013

जल आन्दोलन







जल आन्दोलन में 
वे सबसे आगे रहे 
पानी पर लिखी उन्होंने ढेरों कविताएँ 
किसान की कथा लिखी कागजों पर 
कुछ ने उन्हें जनकवि कह दिया 
अपनी विचारधारा के पक्ष में 
उन्होंने भी की लंबी -लंबी बातें 
आजकल उनकी सभाओं में 
बड़ी कम्पनी का बोतलबंद पानी आता है ..

No comments:

Post a Comment

मैं थका हुआ एक मजदूर और तुम्हारा प्रेमी हूँ

कितनी नफ़रत और हिंसा फैल चुकी है हमारे आस-पास ख़बरों के शब्दों में विष घुल चुका है समाचार वाचक भी चिल्ला रहा है  जैसे वह हमें किसी निज़ाम की ...