Friday, August 4, 2017

एक चिड़िया आकाश पर

अत्याचार,
शोषण -दमन
और तानाशाह के खिलाफ़
हम कविता लिख रहे हैं
नदी किनारे आखिरी वृक्ष मौन खड़ा है
एक चिड़िया आकाश पर फैले
काले धुंए से लड़ रही है !

No comments:

Post a Comment

दिल्ली में बारिश और मध्य रात्रि

इस वक्त जम कर बरस रहा है मेघ जाने किस गम ने उसे सताया है वह किस दर्द में चीख़ रहा है ? गौर से सुनो वो हमारी कहानी सुना रहा है | ...