Tuesday, March 7, 2017

मेरी/ तुम्हारी प्रेम कहानी

तुम्हें भुलाने को
सोने की कोशिश
बहुत की
पर रात ने जिद्द नहीं छोड़ी
और मेरी आँखों ने 
रात का पक्ष लिया
#मेरी/ तुम्हारी प्रेम कहानी

No comments:

Post a Comment

यही मैं ही इस सभ्यता के पतन का कारण बनेगा

मानव सभ्यता के सबसे क्रूर समय में जी रहे हैं हम हमारा व्यवहार और हमारी भाषा हद से ज्यादा असभ्य और हिंसात्मक हो चुकी है व्यक्ति पर हा...