Thursday, April 21, 2011

ऐसा क्यों ?

खून हमेशा 
पानी से गाढ़ा होता है 
किन्तु खून आज बह रहा है 
पानी की तरह /

आज जो लौट कर आये 
इराक से 
अफगानिस्तान से 
भारत के दन्तेबाड़ा से 
गोधरा से ,सिंगूर और नंदीग्राम से 
उनके पैरों में 
खून के छींटे  देखी है मैंने 
लाल माटी देखी है हमने 
अपने ही देश में 
किन्तु --
जिन्होंने किया था लाल 
इस माटी को 
अपने ही नागरिकों के रक्त से 
उनके हाथों में 
आज सफेदी की चमकार है 
ऐसा क्यों?

No comments:

Post a Comment

दिल्ली में बारिश और मध्य रात्रि

इस वक्त जम कर बरस रहा है मेघ जाने किस गम ने उसे सताया है वह किस दर्द में चीख़ रहा है ? गौर से सुनो वो हमारी कहानी सुना रहा है | ...