Monday, June 11, 2012

कायरता के सभी गुणों से पूर्ण कोई बहादुर नही होता .....

खुले आकाश के पंछी को 
बनाना निशाना 
बहादुरी नही 
धर्म ध्वजा उठाकर चीखना 
बहादुरी नही 
निरुत्तर होकर
हाथ उठाना भी
नही है बहादुरी 


करों सामना लहरों का
तूफान से लड़ों
पिंजरे के  पंछी का
पंख काटना
बहादुरी नही
कायरता के सभी गुणों से पूर्ण
कोई बहादुर नही होता .....

1 comment:

हर बेवक्त और गैरज़रूरी मौत को देशहित में जोड़ दिया जायेगा !

मनपसंद सरकार पाने के बाद जिस तरह चढ़ता है सेंसेक्स ठीक उसी दर बढ़ रही हैं हत्याएं इस मुल्क में ! यह आधुनिक विज्ञान का युग है जब हम टीवी प...