Monday, June 11, 2012

संभलकर परखना ....

मुझे देख लो 
उन्हें भी देखना 
जो , आयेंगे मेरे बाद 
बस तुम परखते जाना 
लेते जाना अनुभव 

पर , सावधान

संभलकर परखना ....
आदमी खो जाता है
दूर चला जाता है
हर रिश्ते से
कई बार ..
परखते -परखते

No comments:

Post a Comment

हर बेवक्त और गैरज़रूरी मौत को देशहित में जोड़ दिया जायेगा !

मनपसंद सरकार पाने के बाद जिस तरह चढ़ता है सेंसेक्स ठीक उसी दर बढ़ रही हैं हत्याएं इस मुल्क में ! यह आधुनिक विज्ञान का युग है जब हम टीवी प...