Tuesday, June 5, 2018

हमारी चुप्पी तब हमारा अपराध होगा

एक एक कर
गायब कर दिये जायेंगे
उनके गुनाहों के तमाम
साक्ष्य ,
तब 
केवल अपराध का साम्राज्य होगा
इस वक्त हमारी चुप्पी
तब हमारा अपराध होगा !

तस्वीर : गूगल से साभार 

3 comments:

  1. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन जन्म दिवस - सुनील दत्त और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    ReplyDelete
  2. बहुत कुछ न कहते हुए भी बहुत कुछ कह दिया इन शब्दों में ...

    ReplyDelete

इन्सान नमक हराम होता है!

  नमक तो नमक ही है नमक सागर में भी है और इंसानी देह में भी लेकिन, इंसानी देह और समंदर के नमक में फ़र्क होता है! और मैंने तुम्हारी देह का नमक...